हिंदी गीतमाला LYRICS

हम तुम दोनों जब मिल जाएंगे / Hum tum dono jab mil jaenge

हम तुम दोनों जब मिल जाएंगे/ Hum tum dono jab mil jaenge, एक दूजे के लिए, Ek dooje ke liye, 1981 movies

गीत/ Title: हम तुम दोनों जब मिल जाएंगे/ Hum tum dono jab mil jaenge
सिनेमा/ Movie: एक दूजे के लिए, Ek dooje ke liye, 1981 movies
गायक/ Playback: लता मंगेशकर,Lata Mangeshkar, एस.पी. बालासुब्रमण्यम, S. P. Balasubrahmanyam
गीतकार/ Lyricist: आनंद बख्शी, Anand Bakshi
संगीत/Music: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल, Lakshmikant Pyarelal

हम तुम दोनों जब मिल जाएंगे
हम तुम दोनों जब मिल जाएंगे
एक नया इतिहास बनाएंगे

और अगर हम ना मिल पाएं तो
और अगर हम ना मिल पाएं तो
तो भी एक नया इतिहास बनाएंगे
हम तुम दोनों जब मिल जाएंगे

साल महीने हार गये
साल महीने हार गये
दिल जीत गया
और जुदाई का
लो एक दिन बीत गया
गिन गिन के ये दूरी के दिन
यूँ जीना मुश्किल है लेकिन

हम फिर भी जीकर दिखलाएंगे
हम फिर भी जीकर दिखलाएंगे
एक नया इतिहास बनाएंगे
हम तुम दोनों जब मिल जाएंगे

दुनिया में कितने लोगों ने प्रेम किया
दुनिया ने कितने प्रेमों का खून पिया
प्यासी तलवार नहीं रुकती
क्यूँ इसकी प्यास नहीं बुझती

हम दुनिया की प्यास बुझाएंगे
हम दुनिया की प्यास बुझाएंगे
एक नया इतिहास बनाएंगे
हम तुम दोनों जब मिल जाएंगे

ला ला ला ला ला ला ..

फिर ये दिल दिन रात
तड़पता रहता है
जब हमसे बेदर्द ज़माना कहता है
मिल ना पाएं जो ख्वाबों में
कितने हैं नाम किताबों में

हम उनमें क्यूँ नाम लिखाएंगे
हम उनमें क्यूँ नाम लिखाएंगे
एक नया इतिहास बनाएंगे

और अगर हम ना मिल पाएं तो
तो भी एक नया इतिहास बनाएंगे
हम तुम दोनों जब मिल जाएंगे
हम तुम दोनों जब मिल जाएंगे

Hum tum dono jab mil jaenge
Hum tum dono jab mil jaenge
Ek naya itihas banaenge

Aur agar hum na mil payen to
Aur agar hum na mil payen to
To bhi ek naya itihas banaenge
Hum tum dono jab mil jaenge

Saal mahine haar gaye
Saal mahine haar gaye
Dil jeet gaya
aur judai ka
Lo ek din beet gaya
Gin gin ke ye doori ke din
Yun jeena mushkil hai lekin

Hum phir bhi jeekar dikhlaenge
Hum phir bhi jeekar dikhlaenge
Ek naya itihas banayenge
Hum tum dono jab mil jaenge

Duniya mein kitne logon ne prem kiya
Duniya ne kitne premon ka khoon piya
Pyasi talwar nahi rukti
Kyun iski pyas nahi bhujhti

Hum duniya ki pyas bujhaenge
Hum duniya ki pyas bujhaenge
Ek naya itihas banaenge
Hum tum dono jab mil jaenge

La la la la la la..

Phir ye dil din raat
tadapta rehta hai
Jab humse bedard zamana kehta hai
Mil na payen jo khwabon mein
Kitne hain naam kitabon mein

Hum unmein kyun naam likhaenge
Hum unmein kyun naam likhaenge
Ek naya itihas banaenge

Aur agar hum na mil paye to
To bhi ek naya itihas banaenge
Hum tum dono jab mil jaenge
Hum tum dono jab mil jaenge

ChandraKanta

Recent Posts

श्री शिवताण्डवस्तोत्रम् Shri Shivatandava Strotam

श्री शिवताण्डवस्तोत्रम् Shri Shivatandava Strotam श्री रावण रचित by shri Ravana श्री शिवताण्डवस्तोत्रम् Shri Shivatandava…

2 hours ago

बोल गोरी बोल तेरा कौन पिया / Bol gori bol tera kaun piya

बोल गोरी बोल तेरा कौन पिया / Bol gori bol tera kaun piya, मिलन/ Milan,…

5 days ago

तोहे संवरिया नाहि खबरिया / Tohe sanwariya nahi khabariya

तोहे संवरिया नाहि खबरिया / Tohe sanwariya nahi khabariya, मिलन/ Milan, 1967 Movies गीत/ Title:…

6 days ago

आज दिल पे कोई ज़ोर चलता नहीं / Aaj dil pe koi zor chalta nahin

आज दिल पे कोई ज़ोर चलता नहीं / Aaj dil pe koi zor chalta nahin,…

6 days ago

हम तुम युग युग से ये गीत मिलन के / hum tum yug yug se ye geet milan ke

हम तुम युग युग से ये गीत मिलन के / hum tum yug yug se…

6 days ago

मुबारक हो सब को समा ये सुहाना / Mubarak ho sabko sama ye suhana

मुबारक हो सब को समा ये सुहाना / Mubarak ho sabko sama ye suhana, मिलन/…

1 week ago

This website uses cookies.